About

अशोक कुमार सिन्हा

लेखक, कवि और राजपत्रित पदाधिकारी

जन्म तिथि

19 फरवरी 1962

वर्तमान पता

बी-20, इंदिरापुरी कॉलोनी,डाकघर- बी.भी कॉलेज, पटना -800014, बिहार।

सम्प्रति

  1. मुख्‍य कार्यपालक अधिकारी, बिहार राज्य खादी ग्रामोद्योग बोर्ड, उद्योग विभाग, बिहार सरकार

2.    निदेशक, उपेंद्र महारथी शिल्प अनुसन्धान संस्थान, उद्योग विभाग, बिहार सरकार

रुचि

लेखन एवं पुस्तकों का अध्ययन

आत्म परिचय

बिहार सरकार, उद्योग विभाग के नियंत्रणाधीन उपेन्द्र महारथी शिल्प अनुसंधान संस्थान, पटना के निदेशक तथा बिहार फाउंडेशन के विशेष कार्य पदाधिकारी के पद पर आसीन श्री अशोक कुमार सिन्हा मौजूदा दौर के उन बिरले लोगों में से एक हैं, जो प्रशासन, कला एवं साहित्य तीनों में समान रूप से दखल रखते हैं। श्री सिन्हा ऐसे रचनाकार है, जिन्होंने अपनी कृतियों में हमेशा हाशिए पर पड़े लोगों को स्वर दिया है। समतामूलक मानवीय समाज का सपना श्री सिन्हा के लेखन का न्यूक्लियस हैं। इन्होंने लोकनायक जयप्रकाश नारायण, जननायक कर्पूरी ठाकुर, लोक कवि भिखारी ठाकुर, डाॅक्टर आंबेडकर सहित 10 महापुरूषों की जीवनियाँ लिखी है। इसके अतिरिक्त इनका पाँच कविता संग्रह, तीन यात्रा-संस्मरण, दो उपन्यास, दो कहानी संग्रह और कला विषयक चार पुस्तक समेत ढाई दर्जन पुस्तकें प्रकाशित हैं। इनकी पुस्तकों का अंग्रेजी, मराठी एवं मैथिली भाषा में अनुवाद हो चुका है। बटोही, सुन लो हमरी बात (उपन्यास), पिता (खंड-काव्य), बैरी पईसवा हो राम एवं मवाली की बेटियाँ (कहानी-संग्रह) और मन तो पंछी भया (यात्रा-संस्मरण) इनकी चर्चित पुस्तकें हैं। साहित्यिक उपलब्धियों के लिए इन्हें दर्जनों पुरस्कार/ सम्मान प्राप्त है, जिनमें विक्रमशिला हिन्दी विद्यापीठ, गाँधीनगर से सुदीर्ध हिन्दी सेवा सम्मान और बिहार सरकार का राजभाषा सम्मान प्रमुख है।

प्रकाशित पुस्तकें

1. अमर शहीद जगदेव प्रसाद (जीवनी, 1999)
2. लोकनायक जयप्रकाश (जीवनी, 2004, 2010)
3. स्वास्थ्य और शाकाहार (सेहत, 2004, 2006)
4. स्वर्णमंजूषा में कैद सत्य (कविता-संग्रह, 2005)
5. जननायक कर्पूरी ठाकुर (जीवनी, 2006, 2010)
6. बटोही, सुन लो हमरी बात (उपन्यास, 2007)
7. लेखन के रंग (विचार-निबन्ध, 2007, 2010)
8. सूरज नया, पुरानी धरती (उपन्यास, 2008)
9. पिता (खंड काव्य, 2008)
10. वी0 पी0 सिंहः सफर और संघर्ष (जीवनी, 2009)
11. बाबूजी के कान्ह आसमान से ऊॅंच होला (भोजपुरी चम्पू काब्य, 2010)
12. कठिन समय में शब्द (कविता-संग्रह, 2011)
13. कठिन समय में शब्द का मैथिली अनुवाद ।
14. भोजपुरी के लोकावतारः भिखारी ठाकुर (जीवनी,2011)
15. सामाजिक क्रान्ति के सूत्रधार (जीवनी, 2012)
16. भिखारी ठाकुर: जीवन और सृजन (जीवनी, 2012)
17. बदल गया अब गाॅंव (कविता-संग्रह, 2014)
18. बैरी पइसवा हो राम (कहानी संग्रह, 2014)
19. मधुकर सिंह: पहचान और परख (2016)
20. भारत की ऐतिहासिक धरोहर यात्रा (2016)
21. मैं कहता आँखिन देखी (2017) (यात्रा संस्मरण)
22. बिहार के हस्तशिल्प (2017)
23. बिहार के कालजयी शिल्पकार (2018)
24. डाॅ0 अंबेडकर, एक जीवनी (201़9)
25. वक्त आ गया है (2019)
26. मन तो पंछी भया (2020)
27. मवाली की बेटियां (2020)

संपादित ग्रंथ

1. सत्यशोधक
2. शहीद का संग्राम
3. बिहार के शिल्प
4. उद्योग संवाद
5. मंजूषा कला
6. मन मे बिहार

संपर्क करें